निजीकरण के खिलाफ सड़क पर उतरे एलआईसी कर्मी

भारत सरकार द्वारा निजी करण के विरोध में बैंक और एलआईसी समेत सभी स्वर जनिक उपक्रम के लोग हड़ताल पर उतर कर अपना विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं दो दिन पहले बैंक कर्मियों ने राष्ट्र व्यापी प्रदर्शन किया था और दो दिन की राष्ट्रव्यापी हड़ताल की थी इसी कड़ी में आज देश भर के भारतीय जीवन बीमा निगम कर्मचारी संगठनों के द्वारा आज एक दिवसीय देशव्यापी हड़ताल किया गया जिसमें छपरा के सभी एलआईसी ब्रांच पूरी तरह से बंद रहे और कार्यालयों के गेटों पर ताला लटका रहा और कर्मचारी एफडीआई एक धोखा है ,भारत सरकार की तुगलकी नीति के खिलाफ लगातार विरोध प्रदर्शन करते नजर आए, वही एलआईसी कर्मचारी संगठन के लोगों का कहना है कि भारत सरकार द्वारा एलआईसी को निजी हाथों में बेचे जाने और एलआईसी का पैसा शेयर मार्केट में लगाने संबंधी जो भी अध्यादेश आया है यह पूरी तरह से एलआईसी कर्मचारियों के हित के खिलाफ है और इससे आम जनता को भी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा क्योंकि जनता को जो ब्याज एलआईसी देती थी वह सीधे-सीधे शेयर बाजार में जाएगा और और हम इसी का विरोध कर रहे हैं क्योंकि जिस तरह से केंद्र सरकार निजी करण के दिशा में आगे बढ़ रही है उससे सावर्जनिक उपक्रम का नामोनिशान तक मिट जाएगा और सरकार की इस मनमानी का हम कर्मचारी संगठन पूरी तरह से विरोध करते हैं निगम कर्मचारियों ने कहा की बैंकों और सार्वजनिक क्षेत्र के प्रतिष्ठानों का निजीकरण का विरोध, आईपीओ का विरोध, बीमा कानून 1956 में संशोधन का विरोध के साथ असंगठित क्षेत्र के मजदूरों को न्यूनतम निर्धारित वेतन एवं सामाजिक सुरक्षा प्रदान करना के साथ वेतन समझौता शीघ्र लागू करना है वही बीमा क्षेत्र में एफडीआई की सीमा 74% वृद्धि का विरोध भी प्रमुख रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *