कोविड वैक्सीन के रजिस्ट्रेशन के लिए कई मरीज कतार में घंटो अपने बारी का कर रहे इंतजार तो किसी को मिल रहा वीआईपी ट्रीटमेंट

पीएचसी कर्मियों की मिलीभगत से पीएचसी की व्यवस्था चरमराई

दो चिकित्सको के भरोसे चल रहा रिविलगंज पीएचसी

एक एमबीबीएस तो दूसरा दाँत का डॉक्टर

छपरा के रिविलगंज पीएचसी का हाल

छपरा ( बिहार )

छपरा के रिविलगंज पीएचसी की व्यवस्था चिकित्सको की कमी और कर्मियों की लापरवाही के कारण चरमरा गई है। इस पीएचसी में आने वाले रोगी को काफी फजीहत झेलनी पड़ रही है। कोरोना के बढ़ते प्रभाव से बचने के लिए कोविड वैक्सीन लेने के आमतौर पर सामान्य लोगो को इस चिलचिलाती धूप में लम्बी लाइन में लग कर अपनी बारी का इंतजार करना पड़ रहा है

कोविड 19 वैक्सीन रजिस्ट्रेशन के लिए घंटो लाइन में खड़े होकर इंतजार करते लोग

वही इस पीएचसी के कर्मियों की मिलीभगत से कुछ खास लोग वीआईपी ट्रीटमेंट लेने में सफल भी हो रहे है।

पीएचसी कर्मी द्वारा खास लोगो को दी जा रही वीआईपी ट्रीटमेंट

पीएचसी कर्मियों द्वारा कुछ लोगो को केबिन के अंदर बैठा कर कोविड वैक्सीन के लिए उनका रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है तो वही आमलोग चिलचिलाती धूप में खड़े रह कर अपनी बारी का इंतजार करना पड़ रहा है। जब पीएचसी कर्मियों द्वारा कुछ लोगो वीआईपी ट्रीटमेंट देने के मामले पर पीएचसी प्रभारी डॉ रीना सिन्हा से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि किसी को भी वीआईपी ट्रीटमेंट नही दिया जाएगा साथ उन्होंने कहा कि इस पीएचसी में चिकित्सकों की कमी है। मात्र दो चिकित्सक के सहारे यह पीएचसी चल रहा है । दो चिकित्सको में एक बतौर पीएचसी प्रभारी एमबीबीएस जबकि दूसरे दाँत के आयुष चिकित्सक है। वही इस घटना पर जब सिविल सर्जन , सारण घटना से अवगत कराया गया तो उन्होंने तुरंत रिविलगंज पीएचसी प्रभारी डॉ रीना सिन्हा को फोन कर वीआईपी ट्रीटमेंट पर रोक लगाने को कहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *